Wednesday, 18 September 2013

गूगल पेज रैंक बढ़ाने के तरीके

गूगल पेज रैंक back links पर आधारित है. back links एक अन्य वेबसाइट से अपनी वेबसाइट की ओर आने का इशारा करते हैं. अधिक back links आप की वेबसाइट को उच्च पेज रैंक प्राप्त करने में सहायक होते है इसलिए आप ज्यादा से ज्यादा वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के back links डालने की कोशिश करें. back links का मतलब आपकी वेबसाइट का URL है

  1. फोरम में सबमिट करें:- फोरम अपनी वेबसाइट के बैक लिंक को प्राप्त करने का एक अच्छा तरीका है. इसके लिए आपको इसमें रेजिस्ट्रेसन करना पड़ता है. रेजिस्ट्रेसन करने के बाद आपको इनपे अपनी वेबसाइट का लिंक डालने की अनुमति दी जाती है. अपनी वेबसाइट से संबंधित बाते लिखें और अपनी वेबसाइट का एड्रेस डाल दे जिससे विजिटर आपके द्वारा लिखी बाते पढ़ने के बाद वही निचे दिए लिंक पे क्लिक करके आप के वेबसाइट या ब्लॉग पर बहुत आसानी से पहुँच जाएगा. आप ऐसा करके एक साथ दो कार्य करने में सफल हो जाओगे. एक तो आप ऐसा करके अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की advertise करोगे जिससे आपको विजिटर मिलेंगे और साथ ही इससे आपका पेज रैंक भी बढेगा.
  2. सर्च इंजन डायरेक्ट्रीज:- लोकप्रिय सर्च इंजन गूगल या इसके जैसे अन्य लोकप्रिय सर्च इंजन पर अपनी वेबसाइट के लिए एक मुफ्त लिंक डालकर अपना पेज रैंक बढ़ाने और अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए विजिटर प्राप्त करने का सबसे अच्छा अवसर है. अधिकांश सर्च इंजन डायरेक्ट्रीज आपको मुक्त में अपना लिंक वेबसाइट पर प्रस्तुत करने की अनुमति प्रदान करते है. आपको याद करवा दे अधिक लिंक आपको उच्च पेज रैंक हासिल करने में आपकी सहायता करते है.
  3. Ezine विज्ञापन का उपयोग (या न्यूज़लेटर्स):- एक ezine बनाना शायद आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए विजिटर बढ़ाने के लिए सबसे अधिक लाभकारी कदम होगा. Ezine भी आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए बैक लिंक को बढ़ाने के लिए अनुमति देगा. एक ezine बनाकर आप एक ezine डायरेक्ट्री पर अपने ezine के बारे में लिखकर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक इसमें सबमिट कर सकते हैं. इस तरह आप एक मुफ्त लिंक दे सकते हो.
  4. आर्टिकल लिखना:- आर्टिकल लिखना नए विजिटर प्राप्त करने का एक आसान स्रोत हैं. अपने आर्टिकल आम तौर पर 4 से 8 लाइनों के होते हैं. आम तौर पर पहली पंक्ति आर्टिकल का शीर्षक हो सकता है और अंतिम पंक्ति में वेबसाइट या ब्लॉग के लिए लिंक बनाया जा सकता है. और इन दोनों के बीच की लाइनों में अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के बारे में उचित जानकारी दी जाती है जिसे पढकर विजिटर आकर्षित होगा और आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिंक पर क्लिक करके पूरी जानकारी के लिए आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर पहुँच जाएगा. बहुत सी वेबसाइट आपको फ्री आर्टिकल लिखने की अनुमति देती है.
  5. संबंधित वेबसाइटों से लिंक:- यदि संभव हो तो संबंधित वेबसाइटों पर अपना लिंक डाल कर ज्यादा पेज रैंक और विजिटर प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हो. आपको ये काम मुश्किल लगता होगा लेकिन ये काम बहुत आसान है. संबंधित वेबसाइट या ब्लॉग खोजने के लिए आप एक खोज इंजन पर जाएँ. और अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का कीवर्ड इंटर करें इससे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग जैसे कंटेंट वाले अन्य ब्लॉग या वेबसाइट की लिस्ट आपके सामने रख दी जाएगी. इनमे से कुछ ब्लॉग या वेबसाइट ऐसे भी होंगे जिनपे वेबमास्टर से संपर्क करने का ई-मेल एड्रेस या कांटेक्ट फॉर्म भी दिया होगा. हो सकता है के बहुत सारे ब्लॉग या वेबसाइट पे ये सब न हो क्योंकि बहुत से वेबमास्टर इसके महत्व को नहीं जानते हैं. लेकिन आपको जिन वेबसाइट पे ई-मेल एड्रेस या कांटेक्ट फॉर्म मिले आप उनके एडमिन से अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक उनकी वेबसाइट या ब्लॉग पर डालने का अनुरोध करे और उनकी वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर डालने का अवसर दे. ऐसा करने से आप एक दुसरे के विजिटर ट्रान्सफर कर सकते हो.

1 comment:

Naman Singh said...

Earn online make maony for google adsense
http://allindiaresultsncr.blogspot.in/2013/04/earn-online-make-maony-for-google.html#.UjptDH-Un60

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...